Best Urdu Poetry 2021, Best Urdu Shayari 2021

Urdu Poetry is richly quotable. There are thought-provoking couplets on varied themes of permanent human interest such as love and beauty, God and man, life and death, morality, mysticism, etc.

****************************************************************

हकीकत रूबरू हो तो अदाकारी नहीं चलती
खुदा के सामने बन्दो की मक्कारी नहीं चलती
तुम्हारा दबदबा खाली तुम्हारी ज़िन्दगी तक है
किसी की कब्र के अंदर ज़मीदारी नहीं चलती,

Best Urdu Poetry 2021, Best Urdu Shayari 2021

इन हाथों की लकीरों पे मत जाना ग़ालिब,
इन हाथों की लकीरों पे मत जाना ग़ालिब
किस्मत उनकी भी होती है जिनके हाथ नहीं हो ते,

**********************************************************************

वो फिर से लौट आये थे मेरी जिंदगी में,
अपने मतलब के लिये
और हम सोचते रहे कि हमारी दुआओं में दम था

************************************************************************

सुना है लोग उसे आँख भर के देखते हैं
सो उसके शहर में कुछ दिन ठहर के देखते हैं!
सुना है बोले तो बातों से फूल झड़ते हैं
ये बात है तो चलो बात कर के देखते हैं !

***************************************************************************

Best Urdu Poetry 2021,

**************************************************************************

बहुत गुरुर था छत को छत होने पर
एक मंजिल और बनी छत फर्श हो गई

**************************************************************

गुजर जाएगा यह दौर भी गालिब जरा इत्मीनान तो रख जरा,
खुशी ही ना ठहरी तो गम की क्या औकात है

**************************************************************

महफिल में चल रही थी हमारे कत्ल की तय्यारी,
हम पहले तो बोले बहुत लंबी उमर है तुम्हारी….

महफिल में चल रही थी हमारे कत्ल की तय्यारी,
हम पहले तो बोले बहुत लंबी उमर है तुम्हारी….

************************************************************************

लिपटकर रोये वो बेटियो से कभी अपनी हालातो पे
जो कहते थे कभी विरासत के लिए बेटा जरूरी है।

लिपटकर रोये वो बेटियो से कभी अपनी हालातो पे
जो कहते थे कभी विरासत के लिए बेटा जरूरी है।

************************************************************************

Best Urdu Poetry 2021

***********************************************************************

ये सोच कर की शायद वो खिड़की से झाँक ले,
उसकी गली के बच्चे मैंने आपस में लड़ा दिए.!!!!

************************************************************************

सुना है वो दुःख में होता है तो मुझे याद करता है गालीब…
केे अब में उसके लिये ख़ुशी की दुआ करू या ग़म की..

सुना है वो दुःख में होता है तो मुझे याद करता है गालीब…
केे अब में उसके लिये ख़ुशी की दुआ करू या ग़म की..

*********************************************************************

अभी मसरूफ हूँ काफी कभी फुरसत में सोचूंगा,

कि तुझको याद रखने में, मैं क्या-क्या भूल जाता हूँ…!!!

****************************************************************************

मुहँ की बात सुने हर कोई,दिल के दर्द को जाने कौन।
आवाज़ों के बाजारों में,खामोशी पहचानें कौन।।

***********************************************************

Best Urdu Poetry 2021, Best Urdu Shayari 2021

Leave a Comment